बुधवार, 14 जुलाई 2010

एक साल और बीत गया ( जन्मदिन पर )


एक साल और बीत गया
एक तारीख के साथ
वक्त न जाने कितना कुछ जीत गया
मेरे पास जो बाकी रहा
वो हैं कुछ बीते लम्हों की तस्वीर बस
नहीं जानती उमर ही बीती या फिर
बहुत कुछ रीस गया
मासूमियत, मतवालापन और मिट्टी की वो सौंधीं महक
जिसके साथ मन
आकाश हो जाता है
चुनर का वो धानी रंग
जिसे गुलाबी करने के बारे में
उमर के इस बरस से सोचा जाता है
मन में हर बार जश्न होता है इस दिन पर
पर हर बार जश्न से मन खुश नहीं हो पाता है
न जाने ये मन कितनी खुशियां चाहता है
किसी तारीख को ऐसा नहीं होता
पर इस तारीख पर ही क्यों
तमन्नाओं का आंचल दूर तक लहरा आता है
दुआएं,  उपहार और आशीरवाद
काफी नहीं है क्या
जाने ये मन और क्या चाहता है
बुहत कुछ बदला बदला है इस तारीख पर
मेरे कपड़ो का रंग कुछ नया है
फोन बार बार बज रहा है
दिल न जाने किससे मिला है
पर हाथ कई लोगों से मिल रहा है
मिल बांट यू भी कई बार मुंह झूठा किया है
पर आज उत्सव का माहौल बन रहा है
 भीड़ भरे इस माहौल में भी
मन मेरा तन्हा ही भटक रहा है
कुछ सपनों को पूरा करने की ख्वाहिश में
कुछ अपनों को अपना करने की ख्वाहिश में
ये तारीख तो हर साल आयेगी
काश कि कुछ ऐसा हो
साल की हर तारीख मुकम्मल हो जाए
और इस तारीख पर
मेरा मन भी
मेरे जन्म का जश्न मनाएं




7 टिप्‍पणियां:

sanu shukla ने कहा…

सुन्दर रचना.....!!
जन्म दिवस की बहुत बहुत सारी शुभकामनाये...!!

sandhyagupta ने कहा…

काश कि कुछ ऐसा हो
साल की हर तारीख मुकम्मल हो जाए
और इस तारीख पर
मेरा मन भी
मेरे जन्म का जश्न मनाएं

Aameen

अनिल कान्त : ने कहा…

अरे वाह आज आपका जन्म दिन है ....ढेरों बधाईयाँ.....वो कहते हैं न 'हैप्पी बर्थ डे टू यू'

संजय भास्कर ने कहा…

जन्म दिवस की बहुत बहुत सारी शुभकामनाये...!!

संजय भास्कर ने कहा…

'हैप्पी बर्थ डे टू यू'........

दिगम्बर नासवा ने कहा…

जन्म दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाये.... सुन्दर रचना...

Shekhar Kumawat ने कहा…

Birth day Message

Every birthday comes like a mile stone to showing every passenger an annual picture of his/her life journey , describing only two numerical figar that today you are how much far from birth and death .