गुरुवार, 15 जून 2017

फिल्में सिर्फ देखें ही नहीं, बचाना भी सीखें



कैप्शन जोड़ें

फिल्में देखने का शौक है, तो उन्हें बचाने का शौक भी पालना होगा, वरना बचेंगी नहीं फिल्में। पहली बोलती फिल्म आलमआरा का एक भी प्रिंट उपलब्ध नहीं हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: